Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

बूढ़े शेरों में अभी जान बाकी है

दुनिया के ज्यादातर प्रोफेशन में 35 बरस की उम्र, करियर का आधा पड़ाव लेकर आती है, लेकिन किसी एथलीट के लिए ये इशारा है कि बतौर खिलाड़ी उसकी पारी अंतिम दौर में है। ना जाने कितने ही खिलाड़ी 35 साल का आंकड़ा छूने से पहले ही या तो रिटायर हो जाते हैं या फिर अपने रंग में नहीं रहते। क्रिकेट में भी ऐसी ही कहानी है।
महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह उन चुनिंदा बल्लेबाजों में शुमार हुए जो 35 साल से ज्यादा के हैं और वनडे में शतक लगाकर बढ़ती उम्र को मुंह चिढ़ा रहे हैं। शतक लगाने वाले दिन धोनी की उम्र 35 साल 196 दिन थी जबकि युवराज की 35 साल 38 दिन।
जानकार मानते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ बल्लेबाजों के हैंड-आई कॉर्डिनेशन (हाथ और आंखों का तालमेल) और दौड़ने पर काफी फर्क पड़ता है, लेकिन धोनी और युवराज ने सभी चिंताओं को दूर कर दिया।
उम्र तो सिर्फ नंबर है
बिशन सिंह बेदी से जब पूछा गया कि 35 साल के बाद बल्लेबाज के लंबी पारियां खेलना कितना मुश्किल होता है, तो उन्होंने कहा, अगर मुश्किल होता भी होगा, तो मैच में धोनी और युवराज को देखकर ऐसा लगा नहीं। बेदी ने कहा, दोनों ने गजब की बल्लेबाजी की और आपको उन्हें पूरा श्रेय देना होगा। जहां तक उम्र बढ़ने की बात है, तो मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि उम्र महज एक नंबर है और इससे ज्यादा कुछ नहीं। युवराज (150 रन) और धोनी (134) ने अपनी उम्र के बूते एक और रिकॉर्ड बनाया। ये जोड़ी एक ही पारी में 35 की उम्र पार होने के बावजूद शतक लगाने वाली दुनिया की दूसरी जोड़ी बन गई।
श्रीलंकाई जोड़ी का रिकॉर्ड पीछे छूटा
उनसे पहले ये रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम था। साल 2015 में मेलबर्न में बांग्लादेश के खिलाफ जब तिलकरत्ने दिलशान (161) और कुमार संगकारा (105) ने शतकीय पारियां खेली तो उनकी उम्र 35 साल पार थी। धोनी और युवराज का बल्ला बीच-बीच में आग उगलता रहा, लेकिन लंबी पारी कई दिन से नहीं दिखी थी। गुरुवार को टीम इंडिया के तीन विकेट पांच ओवर और 25 रनों के भीतर गिर गए थे। सो, मौका भी था और जरूरत भी।
कई साल बाद पहुंचे सौ पार
और भारतीय टीम को कई अवसरों पर छोटी, लेकिन तेज पारियों के दम पर जीत दिलाने वाले धोनी और युवराज ने शतक लगाए. वो भी कई दिन बाद। इससे पहले युवराज के बल्ले से शतक छह साल पहले साल 2011 में निकला था, जबकि धोनी ने इससे पहले सेंचुरी चार साल पहले साल 2013 में मोहाली में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ लगाई थी।
35 साल से ज्यादा के शतकवीर
ये खबर भी उड़ी कि ये दोनों बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के बाद पहले भारतीय हैं, जो 35 साल से ज्यादा होने के बावजूद शतक बना पाए। लेकिन ये सच नहीं है। रिकॉर्ड खंगालने के बाद खुलासा हुआ कि इस खास फेहरिस्त में सचिन तेंदुलकर और धोनी के बीच भी कुछ भारतीय नाम हैं। सचिन ने साल 2012 में जब बांग्लादेश के खिलाफ शतक लगाया था, तो उनकी उम्र 38 साल, 327 दिन थी। सचिन के अलावा सुनील गावस्कर ने 38 साल, 113 दिन, मोहिंदर अमरनाथ 37 साल, 185 दिन और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 35 साल, 224 दिन का होने पर शतक लगाए हैं। इन खास भारतीयों की सूची में पांचवें नंबर पर अब धोनी और छठे पर युवराज आ गए हैं।
ये तीन भारतीयों से आगे
लेकिन दुनिया के तीन ऐसे बल्लेबाज हैं जो बढ़ती उम्र के बावजूद शतक लगाने के मामले में इन सभी भारतीयों से आगे हैं। इस सूची में पहला नाम खुर्रम खान है। ये नाम आपने शायद ना सुना हो, लेकिन उनके नाम ऐसा रिकॉर्ड दर्ज है जिसे तोड़ना धुरंधरों के लिए भी आसान नहीं होगा। संयुक्त अरब अमीरात के इस बल्लेबाज ने साल 2014 में जब अफगानिस्तान के खिलाफ 132 रनों की पारी खेली, तो उनकी उम्र का मीटर 43 साल, 162 दिन पर खड़ा था।
जयसूर्या
उनके बाद इस सूची में श्रीलंका के विस्फोटक बल्लेबाज सनथ जयसूर्या हैं, जो 39 साल, 212 दिन की उम्र में शतक लगा चुके हैं और तीसरे पायदान पर जैफ बायकॉट हैं, जो 39 साल, 51 दिन का होने पर सेंचुरी जड़ चुके हैं। जो लोग ये कह रहे थे कि युवराज सिंह और धोनी के रिटायर होने का वक़्त आ गया है, वो कटक मैच की उनकी पारियों की हाईलाइट देख सकते हैं और साथ ही क्रिकेट के रिकॉर्ड भी, जो बताते हैं कि 43 साल का बल्लेबाज शतक लगा सकता है. और उम्र वाकई कुछ और नहीं, सिर्फ एक नंबर है।

सम्बंधित खबरॆ
News
खेल

अगले 10 साल खेलेंगे यही खिलाड़ी : सचिन

कानपुर। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने आज विराट कोहली की अगुवाई वाली मौजूदा टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि खिलाड़ियों का यह दल अगले दशक…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1503012381.44.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news