Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

रियो में स्वर्ण पदक जीतना है लक्ष्य : हीना

    मुंबई। स्टार महिला निशानेबाज हीना सिद्धू ने कहा है कि उनका लक्ष्य इसी वर्ष होने वाल रियो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर देश को महिला वर्ग में पहली बार स्वर्णिम सफलता दिलाना है। 26 वर्षीय हीना का यह दूसरा ओलंपिक होगा। इससे पहले उन्होंने वर्ष 2010 में लंदन ओलंपिक में हिस्सा लिया था लेकिन वह वहां कोई भी पदक हासिल नहीं कर सकी थीं। उन्होंने कहा कि वह इस बार देश के करोड़ों खेल प्रशंसकों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ेंगी।
उन्होंने कहा कि मैं जानती हूं कि ओलंपिक जैसे मेगा टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले सभी प्रतिभागियों पर भारी दबाव होगा लेकिन यह दबाव हमसे पदक जीतने की अपेक्षाओं के चलते आता है और यही हमें अच्छा करने की प्रेरणा भी देता है। हीना रियो में 10 मीटर और 25 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में हिस्सा लेंगी।
स्टार निशानेबाज ने कहा कि मैं रियो के लिये कड़ी मेहनत कर रही हूं और मेरी कोशिश वहां अपना सर्वश्रेष्ठ देने की होगी। मैं भारी दबाव के चलते पिछले ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी थी लेकिन इस बार मैंने दबाव मुक्त होकर अपना नैसर्गिक प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान यदि मैं पदक जीतने के बारे में सोचूंगी तो मेरा आत्मविश्वास डगमगायेगा और मेरा प्रदर्शन प्रभावित होगा। इसलिये मैंने पदक की चिंता किये बिना अपना स्वाभाविक प्रदर्शन करने का लक्ष्य रखा है।
भारत ने अब तक महिला वर्ग में तीन व्यक्तिगत पदक हासिल किये हैं लेकिन इसमें से एक भी पदक निशानेबाजी से नहीं हैं। निशानेबाजी विश्वकप खिताब अपने नाम करने वाली और राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाली हीना ने कहा कि उनका लक्ष्य इस बार पदकों के सूखे को समाप्त कर देश के लिये पहला स्वर्ण पदक जीतना है।
हीना ने कहा कि मैं लंदन ओलंपिक के बाद से काफी परिपकव हो गयी हूं। मैंने पिछले ओलंपिक के बाद कई बेहद दबाव वाले मुकाबलों में हिस्सा लिया है और इस दौरान मेरे खेल में काफी सुधार हुआ है। मैंने कई अहम टूर्नामेंटों में पदक जीते हैं जिससे मेरे आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी हुयी है। मैं रियों में स्वर्ण हासिल करने के लक्ष्य के साथ उतर रही हूं और मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं वहां पदक जीतने में सफल रहूंगी।
उल्लेखनीय है कि लंदन ओलंपिक के बाद हीना ने वर्ष 2013 में जर्मनी में सम्पन्न निशानेबाजी विश्वकप में 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इसके अलावा इसी वर्ष जनवरी में उन्होंने एशिया ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। भारत की तरफ से निशानेबाजी में एकमात्र स्वर्ण पदक वर्ष 2008 में अभिनव ंिबद्रा ने 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में जीता था।

सम्बंधित खबरॆ
बात जरा हटके

दस का सिक्का बना समस्या

दस का सिक्का इन दिनों बाजार में परेशानी का कारण बन गया है यह प्रचलन से बाहर हो गया है या फिर इसकी नकली खेप आ गई है। लोग सिक्के…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1498591088.58.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news