Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

नर्मदा के हर घाट का फल अलग-अलग मिलता है

पिपरिया । ग्राम पंचायत बीजनवाडा में मनोरम ढाबा के पीछे मारूति नगर में नारायण पटैल बिजली वालो के यहॉ नर्मदा पुराण का आयोजना किया गया है जो कि लगातार चार दिन से प्रारंभ हेै जिसमें चौथे दिन पंडित नीलेश कुमार अपने मुखार बिंद से सारे तीर्थो की महिमा का बखान कर मॉ नर्मदा के सभी घाटों का अलग अलग वर्णन किया है। जिसमें मां नर्मदा के कण-कण में शंकर का रूप बताकर अमंरकटक से लेकर बगलवाड़ा ग्राम जो कि तेदूनी एवं नर्मदा की संगम के बसा हुआ है। जहां की पाडवों ने वनवास के दौरान काफी तपस्या की थी। तथा यज्ञ हवन आदि का आयोजन किया था। जिसके कारण पुराणो ंमें इस घाट का वर्णन आया है जहॉ आज कलयुग में भी उस जगह जिसे कि कुंडा महाराज के नाम से जाना जाता है वहॉ की मिट्टी आज भी भवूति के समान लगती है। आज भी वहां हर मनोकामना पूरी होती है। इस प्रकार अनेक घाटों का वर्णन करते हुए यह बखान किया कि नर्मदा पुराण मार्कण्डेय ऋषि ने सुनाया था जहॉ पर नर्मदा पुराण या किसी भी पुराण का श्रवन किया जाता है। वहां पर सारे तीर्थ एवं सभी देवी देवताओं पर आह्वान किया जाता है तथा पुराण समाप्ति तक वह स्थान ग्रहण करते है। इसी प्रकार राजा वैष्वय की भी कथा का वर्णन किया।

सम्बंधित खबरॆ
राज्य

सड़क न बनने से जनता परेशान

पिपरिया । पचमढ़ी रोड पर रेल्वे गेट से ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इसमें ठेकेदार द्वारा बरसात को देखते हुए मगलवारा बाजार में तो ओवरब्रिज के बाजू से सीमेंट…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1498459829.04.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news