Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

सिंधू और श्रीकांत रहेंगे छुपे रूस्तम : कश्यप

नई दिल्ली। राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और बैडमिंटन स्टार परुपल्ली कश्यप का मानना है कि रियो ओलंपिक में सायना नेहवाल पदक की सबसे प्रबल दावेदार रहेंगी लेकिन पी वी सिंधू और किदाम्बी श्रीकांत इन खेलों में भारत के लिए छुपे रुस्तम रहेंगे। कश्यप ने रियो ओलंपिक में बैडमिंटन में भारत की पदक संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर कहा रियो में इस बार हमारे लिए पदक जीतने के अच्छे मौके हैं। लंदन ओलंपिक में हमने बैडमिंटन में एक कांस्य पदक जीता था लेकिन इस बार पदक संख्या दो तक भी पहुंच सकती है।
अपनी चोट के कारण रियो ओलंपिक में खेलने से चूक गए कश्यप ने कहा सायना पदक की प्रबल दावेदार हैं जबकि सिंधू और श्रीकांत छुपे रुस्तम रहेंगे। इन दोनों खिलाड़ियों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को हराने की क्षमता है। ओलंपिक एक बड़ा और बिल्कुल अलग ही मंच है जहां बहुत कुछ आपके मैच के दिन के प्रदर्शन पर निर्भर करता है। इसलिए यह ध्यान रखिए कि आपको ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है।
राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने कश्यप ने ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी से भी उम्मीद व्यक्त करते हुए कहा इन दोनों युगल खिलाड़ियों ने बड़े टूर्नामेंटों में खासतौर पर अच्छा प्रदर्शन किया है। पिछली विश्व चैंपियनशिप में ये मामूली अंतर से पदक जीतने से चूक गईं थी और ओलंपिक में इनकी दावेदारी को खारिज नहीं किया जा सकता है।
कश्यप ने कहा सात भारतीय खिलाड़ियों का ओलंपिक में उतरना एक बड़ी उपलब्धि है। मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि बी सुमित रेड्डी और मनु अत्री की पुुरुष युगल जोड़ी ने पहली बार ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है। दोनों ने एक साथ काफी टूर्नामेंट खेले हैं और दोनों अपना सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करेंगे।
चार साल पहले लंदन ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल में पहुंचने वाले पहले पुरुष भारतीय खिलाड़ी बने कश्यप को इस बात का गहरा अफसोस है कि चोट की वजह से उनके हाथ से रियो ओलंपिक में उतरने का मौका निकल गया। कश्यप ने कहा मैं विश्व रैंकिंग में सातवें स्थान पर था और मेरे पास ओलंपिक में खेलने का पूरा मौका था लेकिन मैं इसे दुर्भाग्य ही कहूंगा कि पहले मुझे एक पैर की पिंडली में चोट लगी और फिर दूसरे पैर के घुटने में चोट लग गई। इसके साथ ही चोट की सही जानकारी लेने में भी समय निकल गया।
उन्होंने कहा यदि मैंने फरवरी में घुटने की सर्जरी करा ली होती तो मैं ओलंपिक की होड़ में लौट आता। मैं अब सितंबर में टूर्नामेंट खेलने कोर्ट में लौटूंगा और इंडोनेशिया ग्रां प्री मेरा पहला टूर्नामेंट होगा। इसके बाद सुपर सीरीज टूर्नामेंट खेलने के लिए मुझे अपनी रैंिकग में काफी सुधार करना होगा क्योंकि मेरी रैकिंग काफी गिर चुकी है। कश्यप ने बताया कि यू एस ओपन के सेमीफाइनल तक पहुंचे अजय जयराम अगले दो महीने तक उनके ट्रेनिंग पार्टनर होंगे जिनके साथ खेलकर वह अपनी वापसी की तैयारियों को मजबूत करेंगे।

सम्बंधित खबरॆ
News
खेल

सुशील की याचिका पर बोले नरसिंह, 'मैं ही हूं बेस्ट रेसलर'

नई दिल्ली। दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार द्वारा ओलिंपिक में क्वॉलीफाई करने से संबंधित याचिका पर पहलवान नरसिंह यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। नरसिंह का…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1503311032.31.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news