Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

रियो जाने नरसिंह को वर्ल्ड रेसलिंग से मिली हरी झंडी

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से चली आ रही उठापठक से गुजरने के बाद पहलवान नरसिंह यादव को एक और अच्छी खबर बुधवार को भी मिली जब इस खेल की वैश्विक संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने भी रियो ओलंपिक खेलों के लिये उनके नाम को अपनी मंजूरी दे दी। डोप के आरोपों में फंसने के बाद नरसिंह यादव पर अस्थायी प्रतिबंध लगाया गया था लेकिन लंबी चली सुनवाई के बाद सोमवार को राष्ट्रीय डोंिपग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उन्हें क्लीन चिट दे दी थी। हालांकि ब्राजील के रियो डी जेनेरो में पांच अगस्त से शुरू होने जा रहे ओलंपिक खेलों में भारतीय दल का हिस्सा बनने के लिये नरसिंह को कुश्ती की वैश्विक संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग से अनुमति की जरूरत थी। 

वैश्विक संस्था ने बुधवार को रियो खेलों से ठीक पहले नरसिंह को इन खेलों में भारतीय दल का हिस्सा बनने के लिये अनुमति दे दी। इसकी पुक्षि भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण ंिसह ने भी कर दी है। उन्होंने कहा यूडबल्यूडबल्यू ने नरसिंह को रियो ओलंपिक में जाने के लिये अपनी मंजूरी दे दी है। गौरतलब है कि इससे पहले बृजभूषण ने पहलवान नरसिंह के डोंिपग आरोपों से बरी होने के बाद कहा था कि वह विश्व डोंिपग रोधी एजेंसी (वाडा) और कुश्ती की विश्व संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग को पत्र लिखेंगे ताकि नरसिंह रियो ओलंपिक में हिस्सा ले सकें।
नरसिंह के डोपिंग आरोपों में फंसने के बाद कुश्ती महासंघ ने उनकी जगह वैकल्पिक तौर पर प्रवीण राणा का नाम यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग को भेजा था ताकि 74 किग्रा में ओलंपिक कोटा बचाया जा सके। पुरुषों की फ्री स्टाइल कुश्ती रियो ओलंपिक में 19 अगस्त से शुरू होगी। हालांकि इस बीच खबर यह भी है कि विश्व डोंिपग रोधी एजेंसी (वाडा) ने नरसिंह को डोंिपग आरोपों से बरी किये जाने के मामले पर संज्ञान लेते हुये इसकी समीक्षा करने का फैसला किया है। यदि ऐसा होता है तो नरसिंह एक बार फिर परेशानी में घिर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि नाडा के महानिदेशक नवीन अग्रवाल ने भी कहा था कि नरसिंह के मामले से जुड़ा कोई भी पक्ष जिसमें वाडा भी शामिल है खेल की सबसे बड़ी अदालत (कैस) में 21 दिनों के भीतर अपील कर सकती है।

ज्वाला मुर्गबाजी के खिलाफ पेटा की मुहिम से जुड़ी
हैदराबाद। रियो ओलंपिक से ठीक पहले भारत की अनुभवी युगल खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा पीपुल फोर एथिकल ट्रीटमेंट आफ एनिमल्स (पेटा) के नये विज्ञापन में नजर आयेगी। अपने बैडमिंटन रैकेट के साथ तस्वीर में ज्वाला एक मुर्गे के पास खड़ी है और नीचे लिखा है, बैडमिंटन खेल है, मुर्गबाजी नहीं। उसने कहा, मुझे उम्मीद है कि लोग इस मुहिम को गंभीरता से लेंगे। यदि आप खेलना चाहते हैं तो बैडमिंटन, क्रिकेट या टेनिस जैसे खेल खेलें, मुर्गबाजी नहीं।

धावक धरमबीर सिंह पर डोपिंग के बादल, रियो की फ्लाइट छोड़ी
नई दिल्ली। भारतीय एथलीट्स पर डोपिंग के बादल मंडराते जा रहे हैं। मंगलवार को शॉट पुटर इंद्रजीत सिंह के डोपिंग में संलिप्त पाए जाने के बाद धावक धरमबीर सिंह पर भी डोपिंग की सूई लटक गई है। 200 मीटर के धावक धरमबीर सिंह मंगलवार को ओलंपिक के लिए रियो डी जेनेरियो निकलने वाले थे लेकिन वह नहीं गए। सूत्रों के अनुसार नैशनल ऐंटी-डोपिंग एजेंसी (नाडा) द्वारा किए गए ड्रग टेस्ट में 27 वर्षीय धरमबीर फेल हो गए जिस कारण उन्हें रियो नहीं जाने दिया गया। धरमबीर सिंह 36 साल में ऐसे पहले भारतीय हैं जिन्होंने ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाइ किया था।
यह पहले से तय था कि धरमबीर मंगलवार सुबह को रियो के लिए फ्लाइट लेने वाले थे लेकिन वह नहीं गए जब शाम में धरमबीर से संपर्क किया तो उन्होंने फोन काट दिया। नरसिंह यादव, इंद्रजीत सिंह के बाद धरमबीर तीसरे भारतीय एथलीट हो सकते हैं जिनका ड्रग टेस्ट पॉजिटिव आया हो। नरसिंह यादव को नाडा ने डोपिंग के आरोपों से बरी कर दिया था। एथलेटिक्स फेडरेशन आॅफ इंडिया के अधिकारी अपना बयान देने के लिए उपलब्ध नहीं थे। बेंगलुरु में जुलाई में हुए इंडिया ग्रांड प्रिक्स के दौरान धरमबीर ने रियो के लिए क्वॉलिफाइ किया था। सूत्रों ने बताया कि धरमबीर को तीन दिन पहले बताया गया था कि वह ड्रग टेस्ट में फेल हो गए हैं, उनकी प्रैक्टिस की टाइमिंग अनियमित थी जिससे संदेह बढ़ गया था।
खेल मेडिसिन विशेषज्ञों के अनुसार वाडा की नयी आचार संहिता के तहत आजीवन प्रतिबंध का प्रावधान नहीं है और अधिकतम सजा आठ साल की है। धरमवीर ने बेंगलूर में चौथी इंडियन जीपी में 20.45 सेकंड का समय निकाला था जबकि ओलंपिक के लिये क्वालीफिकेशन का स्तर 20.50 सेकंड था। उसके इस प्रदर्शन से कई हलकों में संदेह जताया गया था क्योंकि पिछले कुछ समय से उसका प्रदर्शन अच्छा नहीं था और वह राष्ट्रीय शिविर की बजाय रोहतक में अपने निजी कोच के साथ अभ्यास कर रहा था। इससे पहले शाटपुट खिलाड़ी इंदरजीत सिंह और पहलवान नरसिंह यादव भी डोप टेस्ट में नाकाम रहे लेकिन नाडा की डोपिंग निरोधक अनुशासन समिति ने नरसिंह को यह कहकर क्लीन चिट दे दी कि वह साजिश का शिकार हुआ है ।


तख्तापलट की कोशिश में शामिल 105 कर्मचारी बाहर 
इस्तांबुल। तुर्की फुटबॉल महासंघ ने तख्तापलट की कोशिश में शामिल कुछ अम्पायरों सहित कुल 105 कर्मचारियों को निकाल दिया है। महासंघ ने आज जारी एक वक्तव्य में कहा कि वह अम्पायरों, लाइंसमेन, राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पर्यवेक्षकों समेत सभी 105 कर्मचारियों से अनुबंध तोड़ रही है। पिछले महीने तुर्की में तख्तापलट की असफल कोशिश के बाद से अब तक सेना,न्यायपालिका, लोक सेवा और शिक्षा से संबंधित कुल 60 हजार लोगों को हिरासत में लिया गया है। 
गौरतलब है कि तुर्की में 15 जुलाई को हुए तख्तापलट के प्रयास की राज्य स्तरीय जांच के बीच फुटबॉल महासंघ से संबंधित बोर्ड के सभी सदस्यों ने दो दिन पहले इस्तीफा दे दिया था। तुर्की ने अमेरिका आधारित मौलवी फतेहउल्लाह गुलेन पर तख्तापलट के प्रयास में शामिल होने का आरोप लगाया है। हालांकि मौलवी ने तख्तापलट में किसी भी प्रकार से शामिल होने से इंकार करते हुए तख्तापलट के असफल प्रयास का खंडन किया है।

सम्बंधित खबरॆ
News
खेल

योगेश्वर का लंदन ओलंपिक का कांस्य रजत में बदला

नयी दिल्ली। भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त का लंदन ओलंपिक में जीता कांस्य पदक रजत में बदल गया जब दूसरे स्थान पर रहे रूस के दिवंगत बेसिक कुडुखोक को डोप टेस्ट…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1502904979.83.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news