Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

पंजाब को भी रौंदने के इरादे से उतरेगी विराट सेना आईपीएल में आज : रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरु विरुद्ध किंग्स इलेवन पंजाब

बेंगलुरु । कप्तान विराट कोहली और धाकड़ बल्लेबाज एबी डीविलियर्स के तूफान से कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ अपना पिछला मुकाबला नौ विकेट से अपने नाम करने वाली रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरु की टीम बुधवार को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ अपनी इसी लय को बरकरार रखते हुये बड़ी जीत हासिल करना चाहेगी।
बेंगलुरु ने कोलकाता के खिलाफ जीत के साथ प्लेआफ की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा है और उसे प्लेआफ में जगह पक्की करने के लिये अपने बचे हुये सभी मुकाबलों में जीत हासिल करनी होगी। बेंगलुरु की टीम ने 12 मैचों में छह जीत ही दर्ज की है और 12 अंकों के साथ अंकतालिका में पांचवें स्थान पर है जबकि पंजाब के 12 मैचों में चार जीत के साथ कुल आठ अंक हैं और वह सातवें स्थान पर रहते हुये पहले ही प्लेआॅफ की दौड़ से बाहर हो गया है।
बेंगलुरु ने कोलकाता जैसी मजबूत टीम को जिस तरह से रौंदा है उससे पंजाब की टीम के मन में निश्चित खौफ बैठ गया होगा। इसके अलावा घरेलू मैदान पर होने वाले इस मुकाबले में बेंगलुरु को घरेलू परिस्थितियों का फायदा भी मिलेगा। कप्तान विराट कोहली और डीविलियर्स शानदार फार्म में हैं और एक के बाद एक शतकीय साझेदारियां करते जा रहे हैं। इसके अलावा क्रिस गेल ओपंिनग क्रम में मजबूत खिलाड़ी हैं तो मध्यक्रम में आलराउंडर शेन वाटसन और लोकेश राहुल अहम भूमिका निभा रहे हैं।
बेंगलुरू का बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत है। कप्तान विराट ने अब तक 12 मैचों में 752 रन बनाये हैं और टूर्नामेंट में शीर्ष स्कोरर बने हैं। उन्हें पिछले मैच में चोट जरूर लग गयी थी लेकिन उन्हें पंजाब के खिलाफ होने वाले इस अहम मैच में खेलने की पूरी उम्मीद है।
बेंगलुरू की टीम के पास बल्लेबाजी क्रम जितना मजबूत है उतना गेंदबाजी क्रम नहीं दिखता है। शेन वाटसन और चहल टीम के सबसे सफल गेंदबाज हैं जिन्होंने अब तक 15 विकेट लिये हैं। युजवेंद्र चहल ने पिछले 10 मैचों में 15 विकेट लिये हैं। स्टुअर्ट बिन्नी नौ मैचों में एक ही विकेट ले सके हैं तो वहीं क्रिस जार्डन ने चार मैचों में पांच विकेट चटकाए हैं।
दूसरी तरफ पंजाब की टीम की हालत कुछ खास नहीं है और अब उसके पास ज्यादा मौके भी शेष नहीं है। आठ मैच हार चुकी पंजाब की टीम लगातार संघर्ष कर रही है और दबाव के सामने घुटने टेक देती है जो उसकी हार की मुख्य वजह है। डेविड मिलर से कप्तानी मुरली विजय के हाथों में आने के बावजूद कुछ खास बदलाव दिखाई नहीं दे रहा है।
विजय ने कुछ अच्छे हाथ जरूर दिखाये हैं लेकिन आखिरी समय में मध्यक्रम के खिलाड़ी कुछ खास नहीं कर सके। विजय (318) लगातार अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं और टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर भी हैं लेकिन बाकी खिलाड़ियिों से उन्हें बहुत योगदान नहीं मिल पा रहा है।
टीम में नये आये हाशिम अमला ने जरूर पिछले मैच में अच्छी पारी खेली थी लेकिन मिलर कप्तानी की जिम्मेदारी से हटने के बावजूद बल्ले से निराश कर रहे हैं। इसके अलावा स्टार आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल के भी चोटिल होकर टूर्नामेंट से बाहर हो जाने से टीम को करारा झटका लगा है। गेंदबाजों में संदीप शर्मा और मोहित शर्मा टीम के सबसे सफल गेंदबाज हैं लेकिन मोहित काफी मंहगे साबित हो रहे हैं। अक्षर पटेल भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। पंजाब को उम्मीद है कि खिलाड़ी लय में लौटते हुये कुछ बेहतर खेल दिखायेंगे।

सम्बंधित खबरॆ
देश
बैंकिंग विनियमन अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी

बैंकिंग विनियमन अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी

नयी दिल्ली 05 मई (एजेंसी) राष्ट्रपति ने बैकिंग विनियमन (सुधार) अधिनियम, 2017 को मंजूरी दे दी है जिसमें सरकार को रिजर्व बैंक (आरबीआई) के माध्यम से बैंकों का ऋण नहीं…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1498591631.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news