Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

जमैका टेस्ट में हुयी गलतियों से सबक लिया: विराट ग्रोस

आइलेट । वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने वाले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि टीम ने पिछले मैच में हुयी गलतियों से सबक लेते हुये इस मैच में शानदार प्रदर्शन किया जिसकी बदौलत हम मैच जीतने में सफल रहे। 

भारत ने अपने गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन की बदौलत वेस्टइंडीज को तीसरे क्रिकेट टेस्ट के पांचवे और अंतिम दिन शनिवार को दूसरी पारी में 108 रन पर ढेर करते हुए मैच 237 रन से जीतकर चार मैचों की सीरीज में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली। भारत ने इसके साथ ही कैरेबियाई जमीन पर सीरीज जीत की हैट्रिक भी लगा दी।
विराट ने मैच समाप्ति के बाद कहा; जमैका टेस्ट मैच में हम समझ गये थे कि हमसे से कया गलती हुयी है। हमने यहां उन्हीं चीजों में सुधार किया। हमने चौथे दिन 31 रन के अंदर सात विकेट झटके। इसी ने मैच का रुख हमारी तरफ पलट दिया और परिणाम हमारे पक्ष में रहा।
कप्तान ने साथ ही कहा कि टीम की हमेशा कोशिश रहती है कि वह विदेश में ज्यादा से ज्यादा सीरीज जीतें। इस दिशा में यह एक अच्छी शुरुआत है और अब भारत 18 अगस्त से शुरु होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में अधिक सकारात्मक क्रिकेट खेलेगा।

  विराट ने कहा- इस जीत से टीम में काफी आत्मविश्वास आया है। इस मैच के परिणाम की बदौलत हम चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में और अधिक सकारात्मक क्रिकेट खेलेंगे। बारिश के कारण मैच का पांचवां दिन हमारे लिये काफी चुनौतीपूर्ण था और यहां पर हमें ऐसे परिणाम की उम्मीद नहीं थी। लेकिन हमारे गेंदबाजों ने हमें शानदार वापसी करायी और अपनी योजना के अनुसार गेंदबाजी करने में सफल रहे।
भारतीय टीम ने 1950 की शुरूआत में वेस्टइंडीज का दौरा करना शुरू किया था और तब से टीम ने एक भी सीरीज में दो टेस्ट मैच नहीं जीते थे लेकिन विराट के नेतृत्व वाली टीम ने इस कारनामे को कर दिखाया है और सीरीज में दो टेस्ट मैच जीतकर सीरीज भी अपने नाम कर ली है।
कप्तान ने कहा; कुछ लोग टीम में बदलाव चाहते हैं लेकिन यह टीम ऐसी है जो कभी इस बात की परवाह नहीं करती है कि लोग हमारे बारे में कया सोचते हैं। हमने पिच के अनुसार अंतिम एकादश का चयन किया था। जब मैं तीन नंबर पर बल्लेबाजी करने आया तो कुछ लोगों का कहना था कि मैंने ऐसा कयों किया। लेकिन मैं अपने बल्लेबाजी क्रम को लेकर सही था। यदि टीम चाहेगी कि मैं ओपंिनग करूं तो मैं उसके लिये भी तैयार हूं कयोंकि टीम में सभी के लिये एकसमान नियम है।
27 वर्षीय विराट पहले ऐसे कप्तान हैं जिनकी कप्तानी में भारत ने वेस्टइंडीज में दो टेस्ट मैच जीते हैं। रनों के लिहाज से एशिया के बाहर भारत की यह तीसरी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले भारत ने एशिया के बाहर टेस्ट सीरीज में दो टेस्ट मैच 1986 में जिम्बाबवे के खिलाफ जीता था।
पहली पारी मे शानदार 118 रन बनाने वाले स्टार आफ स्पिनर रविचन्द्रन अश्विन को मैन आफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया। नवबंर 2011 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद अश्विन भारत के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जो टेस्ट क्रिकेट में छह बार मैन आफ द मैच चुने गये हैं।

सम्बंधित खबरॆ
राज्य

भ्रम फैलाने वालों से सावधान रहे समाज : धानक

 थांदला। समाजजनों की जिला कार्यकारिणी अभी गठित नही हुई तो किसी के जिलाध्यक्ष बनने का प्रश्न पैदा नही होता। फिर भी यदि कोई स्वयं घोषित अध्यक्ष बताकर रिश्तेदारी जोड़ने का…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1498590974.65.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news