Member Login

fb login Forgot Password ?

Not a member yet? Sign Up!

...15 साल पहले जिस दिन गंवाये पैर उसी दिन पाया स्वर्ण

रियो डि जेनेरो। पूर्व फार्मूला वन ड्राइवर इटली के एलेक्स जनार्दी ने 15 सितंबर 2001 के दिन रेस के दौरान जबरदस्त कार दुर्घटना में अपने दोनों पैर गंवा दिये थे लेकिन रियो पैरालंपिक में इस घटना के ठीक 15 वर्ष बाद इसी दिन उन्होंने स्वर्ण पदक जीत उस दिन की बुरी यादों को पीछे छोड़ इसे अपने लिये यादगार बना दिया।
इटली के पूर्व एफवन ड्राइवर 49 वर्षीय जनार्दी ने बराजील के रियो में चल रहे पैरालंपिक खेलों की 20 किलोमीटर की एचएफ हैंड साइक्ंिलग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। यह उनका इस स्पर्धा में दूसरा स्वर्ण है। इससे पहले चार वर्ष पहले उन्होंने लंदन पैरालंपिक में भी स्वर्ण जीता था।
जनार्दी ने कहा आमतौर पर मैं भगवान के बारे में नहीं सोचता हूं। लेकिन आज तो हद ही हो गयी। अब तो मुझे सचमुच अपना सिर उठाकर भगवान की ओर देखकर उन्हें धन्यवाद करना ही पड़ेगा। मैं खुद को बहुत भाग्यशाली मानता हूं। मुझे लगता है कि जीवन कभी न खत्म होने वाली विशेष चीज है।
जनार्दी ने 15 सितंबर 2001 को जर्मनी के लॉसस्ट्रिंग में रेस के दौरान भयानक कार दुर्घटना में अपने दोनों पैर गंवा दिये थे। वह इस कदर घायल हो गये थे कि उनका दिल सात बार रूका था, लेकिन वह करिश्माई रूप से बच गये। लेकिन घुटने से नीचे उनके दोनों पैरों को काटना पड़ा।
लंदन 2012 और रियो 2016 के स्वर्ण पदक चैंपियन जनार्दी अमेरिका की चैंप कार सीरीज जिसे अब इंडी कार सीरीज के नाम से जाना जाता है, के लिये वर्ष 1991 से 1999 के बीच 41 ग्रां प्री में हिस्सा ले चुके हैं। उन्होंने अपना फाइनल सत्र विलियम्स के साथ बिताया था। वर्ष 2009 के बाद इतालवी एफवन ड्राइवर ने फिर साइक्ंिलग की तरफ रूख कर लिया।

सम्बंधित खबरॆ
News
खेल

चाइना सुपर सीरीज में साइना पहले मैच में हारीं, पीवी सिंधु अगले दौर में पहुंचीं

फूझो। भारत की शीर्ष टेनिस स्टार साइना नेहवाल की जीत के साथ वापसी की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। 7 लाख डॉलर की इनामी राशि वाली चाइना सुपर सीरीज…

और पढ़े

Write Your Comment
 
 
http://www.lnstarnews.com/site_images/captcha/1503310224.72.jpg refresh
Facebook twitter google rss pinterest ln star news