मध्य प्रदेश राजनीति राज्य

सिद्धू समझें, ये राजनीति है, लॅाफ्टर चैलेंज शो नहीं – लेखी

इंदौर, 25 नवंबर (ब्यूरो) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रवक्ता और सांसद मीनाक्षी लेखी ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक, टीवी कलाकार और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के द्वारा हाल ही में इंदौर की महापौर श्रीमती मालिनी गौघ् के संदर्भ में दिये एक विवादित बयान की आलोचना करते हुए आज कहा कि श्री सिद्धू को मर्यादा में रहकर यह समझना चाहिए कि ये राजनीति है, कोई लॅाफ्टर चैलेंज शो नहीं है।
श्रीमती लेखी ने आज यहां श्री सिद्धू और कांग्रेस के अन्य राजनेताओं द्वारा कथित तौर पर महिलाओं के विरुद्ध की गयी बयानबाजी के विरोध में सांकेतिक मौन प्रदर्शन करने के बाद संवाददाताओं से चर्चा की। उन्हांने कहा कि राजनीति दो दलां के बीच, दो प्रत्याशियां के बीच होती है। मतभेद के बीच अमर्यादित भाषा का उपयोग नहीं होना चाहिए।

श्रीमती लेखी ने यहां इंदौर नगर भाजपा की सैकघें महिला नेत्रियां के साथ एकत्र होकर विरोध प्रदर्शन किया। श्रीमती लेखी ने कहा कि उन्हें अचरज हैं कि श्री सिद्धू पहले भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता रहे हैं। आखिर कांग्रेस में जाकर उनका चरित्र कैसे बदल गया। श्रीमती लेखी ने कहा कि श्री सिद्धू को ध्यान रखना चाहिए। यदि कोई श्री सिद्धू के महिला परिजनां के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करे, तो उन्हें कैसा महसूस होगा।
श्रीमती लेखी ने मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ के द्वारा कथित तौर पर महिलाओं को ‘सजावटी‘ कहने के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस, भाजपा की महिला नेताओं को घर बैठाना चाहती है, लेकिन हम घर बैठने वाले नहीं हैं और ऐसे लोगां का डटकर मुकाबला करेंगे।

श्रीमती लेखी ने यहां अहिल्या माता की प्रतिमा के समक्ष इस संबंध में सांकेतिक विरोध स्वरूप एक ज्ञापन भेंट किया।
श्री सिद्धू हाल ही में इंदौर विधानसभा क्रमांक-4 में कांग्रेस प्रत्याशी सुरजीत सिंह के पक्ष में प्रचार करने आए थे। इस दौरान उन्हांने भाजपा प्रत्याशी श्रीमती मालिनी गौड़ के खिलाफ असंसदीय टिप्पणी कर दी थी। इसके बाद से वे भाजपा नेताओं के निशाने पर आ गए।