अपराध समाचार देश समाचार

विदेश से लौटते ही शराब के लालच में गई जान

 वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी की पुलिस ने सउदी अरब से नौकरी करके अपने घर लौट रहे एक व्यक्ति की लूटपाट के बाद हत्या किए जाने की घटना का खुलासा करते हुए आरोपी आॅटो रिक्शा चालक को गिरफ्तार कर लिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने लूटपाट एवं हत्या के मुख्य आरोपी अमित कुमार पांडे उर्फ दीपू को बुधवार को गिरफ्तार कर एक माह पूर्व बाबतपुर के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से रहस्यमय तरीके से राजेंद्र प्रसाद पाल (42) के लापता होने तथा बाद में रोहनियां क्षेत्र में लावारिश हालत में मिले एक शव की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है। उन्होंने बताया कि लूटपाट एवं हत्या में शामिल मिर्जामुराद क्षेत्र के मेंहदीगंज निवासी अमित के दोस्त वीरू पटेल की तलाश की जा रही है। वीरू उर्फ रवि पटेल मंडुवाडीह थाना क्षेत्र के भुल्लनपुर का निवासी है।

भारद्वाज ने बताया कि पुलिस की अपराध शाखा एवं फूलपुर थाने की संयुक्त टीम ने फूलपुर क्षेत्र के सगुनहां मोड़ के पास एक सूचना के आधार पर अमित को गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर लूट का माल,तथा लूटपाट एवं घटना में प्रयुक्त सामान बरामद कर लिये गए हैं।

उन्होंने कहा कि पूछताछ में अमित ने पुलिस को बताया कि गत छह सितंबर को वाराणसी रेलवे स्टेशन (कैंट स्टेशन) के बाहर राजेंद्र डाफी अपने घर जाने के लिए सामान के साथ आॅटो का इंतजार कर रहा था। राजेंद्र को लंका क्षेत्र के डाफी गांव स्थित अपने घर जाना था। किराया तय होने के बाद वह उसे लेकर डाफी के लिए निकला। जब उसे पता चला कि राजेंद्र सऊदी से लौट रहा है, तो उसकी नीयत खराब हो गई। अमित ने रास्ते में बातों-बातों में राजेंद्र को शराब पीने के लिए राजी कर लिया। इसकी सूचना उसने अपने दोस्त वीरू उर्फ रवि पटेल को दे दी। कुछ दूर आने के बाद तीनों ने मिलकर शराब पी। इसी बीच राजेंद्र को नशीला पदार्थ मिलाकर शराब पिला दी तथा बेहोश होने के बाद उसे लूट लिया तथा हत्या करने के बाद उसे रोहनियां क्षेत्र के सुईचक इलाके में सड़क किनारे फेंक दिया था।

उधर, राजेंद्र निर्धारित समय पर घर नहीं लौटा तो उसके पिता शोभानाथ पाल ने अगले दिन सात सितंबर को हवाई अड्डा इलाके के फूलपुर थाने में उसकी गुमशुदगी की तहरीर दी थी। इस बीच सात सितंबर को सुईचक में मिले शव की शिनाख्त गत 14 सितंबर को राजेंद्र पाल के रूप में हुई। इसके बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर गंभीरता से जांच शुरू की थी।