मीडिया राजनीति

राहुल गांधी की फोटो पर मध्य प्रदेश में बवाल, भाजपा और कांग्रेस में छिड़ी लड़ाई

एलएन स्टार, भोपाल
इससे पहले कि राहुल गांधी की कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर ताजपोशी हो, लगभग हर दिन एक नया मसला सामने आ रहा है। अब मध्य प्रदेश कांग्रेस ने राहुल गांधी को लेकर चल रहे एक विवादास्पद फोटो पर अपनी आपत्ति जाहिर की है। कांग्रेस ने इस बारे में मध्य प्रदेश पुलिस की साइबर सेल को शिकायत की है।

कांग्रेस का कहना है कि सोशल मीडिया पर चल रही एक झूठी तस्वीर के जरिए राहुल गांधी की छवि को नुकसान पहुंचाने की साजिश की गई है। भोपाल में कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुवेर्दी ने साइबर सेल में इस बारे में शिकायत दर्ज कराई है।

दरअसल इन दिनों सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। ये तस्वीर उस वक्त की है, जब राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए अपनी उम्मीदवारी का नामांकन भरने पहुंचे थे।

इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत पार्टी के अन्य वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ राहुल नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर में बाकी चीजें तो सामान्य हैं, लेकिन पीछे रखी एक तस्वीर सभी के आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है। वायरल हो रही तस्वीर में किसी मुगल बादशाह का चित्र नजर आ रहा है।

कांग्रेस को इसी तस्वीर पर आपत्ति है। वहीं कांग्रेस का कहना है कि इस तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी का कहना है कि मूल तस्वीर में पीछे रखा चित्र महात्मा गांधी का है। इस बात की पुष्टि के लिए कांग्रेस की ओर से मूल तस्वीर भी जारी की गई है, जिसमें राहुल गांधी के नामांकन भरते समय पीछे रखी तस्वीर में महात्मा गांधी का चित्र स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है।

कांग्रेस ने लगाए षडयंत्र करने के आरोप
कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने कहा है कि कुछ लोगों के द्वारा षडयंत्रपूर्वक महात्मा गांधी के चित्र के स्थान पर किसी अन्य व्यक्ति का चित्र प्रस्तुत कर उसे मुगल बादशाह दर्शाया गया है, और इसे सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

कांग्रेस ने इस मामले में तीखी आपत्ति जताई है, पार्टी का कहना है कि ये राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का अपमान करने और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की छवि धूमिल करने की कोशिश है, जिसके लिए पार्टी ने इस मामले के आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया है। हालांकि इस दौरान पार्टी प्रवक्ता ने किसी अन्य राजनीतिक पार्टी या व्यक्ति का नाम नहीं लिया।