देश राजनीति

मोदी ने राजनीति में संवाद का स्तर गिराया : कांग्रेस

नयी दिल्ली, 27 नवंबर (ब्यूरो ) कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपनी नाकामयाबियां को छिपाने के लिए ‘सहानुभूति की राजनीति¹ करने का आरोप लगाते हुए कहा है चुनावी भाषणां में पद की प्रतिष्ठा के प्रतिकूल भाषा का इस्तेमाल करके उन्हांने देश की राजनीति में संवाद का स्तर गिराया है।
कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि श्री मोदी हुक्मरान हैं लेकिन पांच राज्यां के विधानसभा चुनाव प्रचार में वह खुद को ‘पीड़ति¹ की तरह पेश कर रहे हैं। उन्हांने प्रधानमंत्री पर देश की राजनीति में संवाद के स्तर को गिराने का आरोप लगाया और कहा कि उन्हें पद की मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए लेकिन पिछले 53 माह से वह लगातार राजनीति की भाषा का स्तर गिराने का काम कर रहे हैं। इससे दूसरे लोग उत्साहित हो रहे हैं और श्री मोदी के कारण देश में राजनीति की भाषा में बहुत गिरावट आ गयी है।

उन्हांने कहा कि श्री मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं और सारी समस्याओं का समाधान भी उनके हाथ में है लेकिन वह जिम्मेदारियां का निर्वहन करने में असमर्थ रहे हैं इसलिए अपनी नाकामयाबी से देश की जनता का ध्यान भटकाने के लिए ‘सहानुभूति की राजनीति¹ कर रहे हैं।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि श्री मोदी को रसोई गैस के सिलेंडर की कीमत एक हजार रुपए पहुंचने, रुपए के लगातार कमजोर होने, राफेल घोटाले, भारतीय रिवर्ज बैंक की स्वायत्तता जैसे मुद्दां पर उठाए जा रहे सवालां का जवाब देना चाहिए लेकिन इन प्रश्नां पर वह चुप्पी साधे हैं। उन्हांने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली अपने मंत्रालय से बाहर के मुद्दां पर ब्लॅाग लिखकर खूब टिप्पणियां कर रहे हैं लेकिन देश की अर्थव्यवस्था कैसे चौपट हो रही है, इस बारे में वह कुछ नहीं लिखते।