खेल

दिल्ली को हराकर टॅाप पर पहुंचा बेंगलुरू

बेंगलुरू, 27 नवंबर (ब्यूरो ) एक दर्जन से भी अधिक मौके हाथ से जाने के बाद आखिरकार बेंगलुरू एफसी ने 87वें मिनट में उदांता सिंह के गोल की मदद से श्री कांतिरावा स्टेडियम में दिल्ली डायनामोज को 1-0 से हराते हुए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में न सिर्फ अपना अजेय क्रम बरकरार रखा बल्कि अंक तालिका में टॅाप पर भी पहुंच गया।
सातवें मैच में मिली छठी जीत के साथ बेंगलुरू के कुल 19 अंक हो गए हैं । दिल्ली की टीम इस मैच में शानदार खेल दिखाने के बावजूद सीजन की पांचवीं हार को मजबूर हुई। दिल्ली का यह नौवां मैच था। उसके खाते में पांच हार के अलावा चार ड्रॅा हैं वह तालिका में सबसे नीचे मौजूद है।
टॅाप पहुंचने की चाह लिए सोमवार को मैदान पर उतरी बेंगलुरू की टीम ने नौवें और 10वें मिनट में दो अच्छे मौका बनाए लेकिन कप्तान सुनील छेत्री गोल नहीं कर सके। दिल्ली ने 13वें मिनट में जवाबी हमला किया लेकिन गियानी जुइवेर्लून द्वारा बनाए गए इस मूव पर लालियानजुआला चांग्ते सूझबूझ भरी प्रतिक्रिया नहीं दिखा सके। 15वें मिनट में भी दिल्ली ने एक अच्छा मूव बनाया लेकिन आंद्रिया कार्मोना अपनी तेजी से गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को नहीं छका सके।

दिल्ली के आद्रिया कोर्मोना को 26वें मिनट में पीला कार्ड मिला। दिल्ली की टीम ने 27वें, 29वें और 31वें मिनट में तीन बघ्े मौके बनाए लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। पहले मौके में नंदकुमार सेकर नाकाम रहे तो दूसरे मौके पर आंद्रिजा कालूजेरोविक सफलता नहीं हासिल कर सके। चांग्ते तीसरे मौके पर गोल करने के सबसे करीब थे वह संधू को छकाकर गोल को भेद नहीं सके।
दिल्ली की टीम का मनोबल सातवें आसमान पर पहुंच गया था। इसी की बदौलत उसने 36वें मिनट में भी एक जोरदार हमला किया लेकिन लेफ्ट फ्लैंक से चांग्ते के क्रास पर नंदकुमार फायदा नहीं उठा सके। गेंद सेरान से डिफलेक्ट होकर सेकर के पास गई थी।
नंदकुमार ने 40वें मिनट में भी एक अच्छा मौका गंवाया। मार्कोस तेबार के पास पर लाइट फ्लैंक से वह गेंद लेकर बॅाक्स में घुसे और संधू की तरफ सीधा शॅाट लगाया। वह चाहते तो अपने दो साथियां को पास दे सकते थे, जो गोल के सामने पास के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। 43वें मिनट में बेंगलुरू के हर्मनजोत खाबरा को पीला कार्ड मिला।

पहला हाफ गोलरहित समाप्त हुआ। दूसरे हाफ का पहला हमला बेंगलुरू के नाम रहा। उदांता के पास पर छेत्री गोल नहीं कर कर सके। कप्तान ने गोल को साधकर शॅाट लिया लेकिन वह बाहर चला गया। छेत्री ने चेहरा ढकते हुए अपना गुस्सा जाहिर किया। बेंगलुरू ने 49वें मिनट में एंटो को बाहर कर एरिक पार्टालू को अंदर लिया।
दिल्ली ने 53वें मिनट में एक अच्छा मूव बनाया लेकिन कार्मोना गोल नहीं कर सके। उनके शॅाट टारगेट पर था लेकिन उसमें तेजी नहीं थी। कार्मोना 60वें मिनट में बाहर गए। रेने मिहेलिक अंदर लिए गए। 70वें मिनट में जिस्को और दिल्ली के गोलकीपर अल्बीनो गोम्स आमने-सामने थे लेकिन उदांता के पास पर बने इस शानदार मूव पर जिस्को दिल्ली के गोलकीपर को छका नहीं सके।

दिल्ली को 73वें मिनट में एक अच्छा मौका मिला। मिहेलिक द्वारा लिए गए कार्नर पर कालूजेरोविक सटीक हेडर नहीं ले सके जबकि उनके सामने का पोस्ट खाली था।
इसके बाद बेंगलुरू ने एक और जोरदार हमला बोला। पोस्ट के पास जाकर कई मौकां पर नाकाम रहने वाली मेजबान टीम के लिए आखिरकार उदांता सिंह ने 87वें मिनट में पहला गोल दाग दिया। उदांता ने कप्तान छेत्री द्वारा बनाए गए मूव के दिल्ली के डिफेंडरां द्वारा नाकाम किए जाने के बाद रीबाउंड पर यह शानदार गोल कर अपना 150वां मैच खेल रहे अपने कप्तान को बेहतरीन तोहफा दिया।