मध्य प्रदेश

झाबुआ के पेटलावद में बाघ दिखने से दहशत

झाबुआ। आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले के पेटलावद तहसील में पिछले दो दिनों से बाघ दिखने से आसपास के क्षेत्र के लोगों में दहशत है।

वन मंडलाधिकारी राजेश खरे के अनुसार वन विभाग की टीमें क्षेत्र में सक्रिय हो गई हैं और जंगलों में नाइट विजन कैमरे लगाये गये हैं। बीती रात पेटलावद तहसील के ग्राम कसारबडी के जंगल में बाघ कैमरे में कैद हुआ है। बाघ दो से तीन वर्ष का है और वह खतरनाक हो सकता है। बाघ ने कल रात्रि में एक जानवर का शिकार भी किया है।

झाबुआ कलेक्टर आशीष सक्सेना ने क्षेत्र के आठ गांवों में अलर्ट जारी कर दिया है और कसारबडी सहित आसपास के गांव के लोगों से रात्रि में घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है। वन विभाग के रेंजरों की टीम जंगल में ंिपजरे लगाकर बाघ को पकड़ने का प्रयास कर रही है।

वन विभाग के सूत्रों के अनुसार बाघ पिछले दिनों देवास, उज्जैन होता हुआ झाबुआ जिले की सीमा में प्रवेश कर गया है। पेटलावद की माही नदी के किनारे जंगलों में इसके होने की संभावना जताई जा रही है।

अभी तक बाघ ने किसी व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचाया है, लेकिन उसके क्षेत्र में होने की खबर से लोगों में दशहत है।