देश मनोरंजन विशेष खबरे

चौथा राज रंगम 12 से 17 अक्टूबर तक जयपुर

 09 अक्टूबर (एजेंसी ) नेशनल थियेटर फेस्टिवल आॅफ जयपुर का राजस्थान रंग महोत्सव 12 से 17 अक्टूबर तक यहां रवीन्द्र मंच पर आयोजित किया जाएगा।

केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय से स्वीकृत तथा संगीत नाटक अकादमी नई दिल्ली, कला, साहित्य, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग राजस्थान, राज्य के एक्टर्स थियेटर तथा एक्टर्स अकेडमी आॅफ राजस्थान के संयुक्त तत्वावधान में नेशनल थियेटर फेस्टिवल चौथे राज रंगम-2017 महोत्सव का आयोजन 12 से 17 अक्टूबर तक रवीन्द्र मंच पर किया जायेगा।

यह समारोह 90 दिवसीय इन्टेन्सिव थियेटर एण्ड टेलिविजन ट्रेंिनग वर्कशॉप प्रोजक्ट के समापन पर आयोजित किया जा रहा है। जयपुर के इस राष्ट्रीय नाट्य समारोह का उद्घाटन 12 अक्टूबर को शाम 7?00 बजे गिरीश कर्नाड के लिखे एवं रामगोपाल बजाज द्वारा अनुवादित नाटक अग्नि और बरखा के मंचन के साथ होगा। यह नाटक जयपुर के वरिष्ठ रंगकर्मी ज़फर खान के निर्देशन में खेला जायेगा। इसी प्रकार 13 अक्टूबर को शाम 7?00 बजे से स्व. के. पी. सक्सैना द्वारा लिखित नाटक बाप रे बाप का मंचन जयपुर के वरिष्ठ रंगकर्मी दिनेश प्रधान के निर्देशन में किया जायेगा।

इसके अलावा 14 अक्टूबर को वरिष्ठ रंगकर्मी डॉ. चन्द्रदीप हाड़ा के निर्देशन में हास्य-व्यंग पर आधारित नाटक द ग्रेट राजा मास्टर ड्रामा कम्पनी का मंचन किया जायेगा। नाटक का लेखन दिनेश भारती ने किया है तथा 15 अक्टूबर को अरन्य रंजन द्वारा लिखित नाटक कि… मैं औरत हूं का मंचन दिल्ली की वरिष्ठ रंगकर्मी लक्ष्मी रावत के निर्देशन में किया जायेगा।

इसी प्रकार 16 अक्टूबर को शाम 6?00 से 8?00 बजे तक रवीन्द्र मंच के स्टूडियो थियेटर में एक रंग संगोष्ठी टॉल्क विद डायरेक्टर्स का आयोजन होगा। समारोह के निर्देशकों एवं शहर के रंगकर्मियों के बीच यह संवाद होगा जिसमें उक्त निर्देशकों की रंग यात्रा पर तो चर्चा होगी ही साथ रंगमंच को और बेहतर बनाने के लिये सुझाव भी लिये जायेंगे। अंतिम दिन 17 अक्टूबर को कुल्लू, हिमाचल प्रदेश के वरिष्ठ रंगकर्मी केहर सिंह ठाकुर के लेखन एवं निर्देशन में नाटक चिरिया के बहाने का मंचन किया जायेगा। समारोह के दौरान एक रंग प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जायेगा।