देश विशेष खबरे

चीन ताकतवर सही, भारत भी कमजोर नहीं: जनरल रावत

नयी दिल्ली  चीन की ओर से सीमा पर बनाये जा रहे दबाव और बढती गतिविधियों के बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज दो टूक शब्दों में कहा कि चीन भले ही ताकतवर देश है लेकिन भारत भी कमजोर नहीं है और वह चीन की आक्रामक नीति से निपटने में सक्षम है।

जनरल रावत ने सेना दिवस से पहले आज यहां वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि चीन एक ताकतवर देश है लेकिन भारत के पास सीमा पर सभी तरह की गतिविधियों से निपटने के लिए व्यापक ‘मैकेनिज्म’ है और उसकी सेना किसी भी तरह की स्थिति से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

उन्होंने कहा , “यह सही है कि चीन ताकतवर है लेकिन भारत भी कमजोर नहीं है।” उन्होंने कहा कि अब हालात 1962 जैसे नहीं हैं और हर क्षेत्र में सेना की ताकत बढी है तथा सीमा पर हर जगह भारतीय सैनिकों की तैनाती को भी बढाया गया है।

सेना प्रमुख ने चीन के संदर्भ में कहा कि देश की उत्तरी सीमा लंबे समय तक नजरअंदाज रही लेकिन अब इसपर ध्यान देने की आवश्यकता है क्योंकि यहां भविष्य में गतिविधियां बढने की आशंका हैं। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में ढांचागत सुविधाओं का विकास तेज गति से किये जाने की जरूरत है । साथ ही साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में क्षमता बढाने के साथ साथ इसकी कमियों को दूर किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सेना के स्तर पर ‘हम मजबूत हैं लेकिन अकेले सेना ही चीन से नहीं निपट सकती इसके लिए भारत को पडोसी देशों के साथ भी सहयोग बढाना होगा। विशेष रूप से श्रीलंका, भूटान, म्यांमार और अफगानिस्तान जैसे पड़ोसी देशों को साथ लेकर चलना होगा जिससे कि चीन की ताकत को संतुलित किया जा सके।’