देश

चंद्रशेखर कंबार बने साहित्य अकेडमी के नये अध्यक्ष, माधव कौशिक उपाध्यक्ष

नयी दिल्ली, कन्नड़ के मशहूर नाटककार, कवि, उपन्यासकार एवं ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित लेखक चंद्रशेखर कंबार आज साहित्य अकादमी के अध्यक्ष चुने गए जबकि हिन्दी के लेखक माधव कौशिक उपाध्यक्ष चुने गये।

श्री कंबार अध्यक्ष पद के लिए त्रिकोणीय मुकाबले में ओड़िया की सुप्रसिद्ध लेखिका प्रतिभा राय को हराकर चुनाव में विजयी हुए। उन्हें कुल 89 मतों में से 56 मत मिले जबकि श्रीमती राय को 28 और तीसरे उम्मीदवार मराठी के मशहूर लेखक भालचंद्र नेमाड़े को मात्र तीन मत मिले। चुनाव में अकादमी की जनरल काउंसिल के सदस्य मतदान करते हैं।

श्री कौशिक केंद्रीय हिन्दी संस्थान के निदेशक नंद किशोर पांडे को हराकर उपाध्यक्ष बने हैं। उपाध्यक्ष पद के चुनाव में श्री कौशिक को 89 में से 58 मत मिले।

दो जनवरी 1937 को कर्नाटक के बेलगाम जिले के घोडेगेरी में जन्मे श्री कंबार ंिहदी के प्रसिद्ध लेखक विश्वनाथ प्रसाद तिवारी का स्थान लेंगे, जिनका कार्यकाल 31 दिसंबर को समाप्त हो गया। श्री कंबार राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के अध्यक्ष रह चुके हैं। उन्हें 1983 में संगीत नाटक अकादमी, 1991 में साहित्य अकादमी, 2001 में पद्मश्री, 2011 में ज्ञानपीठ पुरस्कार प्रदान किया गया था। 2011 में वह संगीत नाटक अकादमी के फेलो भी बनाये गए थे। वह हम्पी में कन्नड़ विश्वविद्यालय के संस्थापक कुलपति भी रहे।

हरियाणा के भिवानी में एक जनवरी 1954 को जन्मे श्री माधव कौशिक ने हिन्दी के गजलकार और गीतकार के रूप में पहचान बनायी है। वह साहित्य अकादमी के सदस्य रहे हैं। इसके अलावा चंड़ीगढ़ साहित्य अकादमी के सचिव भी रहे हैं।