खेल देश विशेष खबरे

कंगारूओं के बराबर हो गए हम

डेस्क/एजेंसी। नई दिल्ली। श्रीलंका ने धनंजय डीसिल्वा (119 रिटायर्ड हर्ट) की विषम परिस्थितियों में खेली गयी बेहद संघर्षपूर्ण पारी के दम पर भारत के खिलाफ दूसरा और अंतिम क्रिकेट टेस्ट बुधवार को यहां ड्रा करा लिया, जबकि विश्व की नंबर एक टीम भारत ने लगातार नौंवी टेस्ट सीरीज जीतने के साथ विश्व रिकार्ड की बराबरी कर ली। भारत ने तीन मैचों की यह सीरीज 1-0 से जीती।

कोलकाता में पहला और दिल्ली में तीसरा टेस्ट ड्रा रहा, जबकि भारत ने नागपुर में दूसरा टेस्ट पारी और 239 रन से जीता था। भारत ने इसके साथ ही लगातार नौंवी टेस्ट सीरीज जीत ली और आस्ट्रेलिया के 2005 से 2008 तक लगातार नौ सीरीज जीतने के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

भारत का यह सफर 2015 में श्रीलंका को उसी की जमीन पर 2-1 से मात देने के साथ शुरू हुआ था। भारत ने उसके बाद दक्षिण अफ्रीका को 3-0 से , वेस्टइंडीज को 2-0 से, न्यूजीलैंड को 3-0 से, इंग्लैंड को 4-0 से , बंगलादेश को 1-0 से, आस्ट्रेलिया को 2-1 से और श्रीलंका को 3-0 से हराया। भारत ने अपनी मौजूदा सीरीज को 1-0 से जीता। भारत के पास अब जनवरी से शुरू होने वाले दक्षिण अफ्रीका के मुश्किल दौरे में नया विश्व रिकार्ड बनाने का मौका रहेगा।

भारत ने श्रीलंका के सामने 410 रन का लक्ष्य रखा था। श्रीलंका ने कल के तीन विकेट पर 31 रन से आगे खेलना शुरू किया था और पूरे दिन सराहनीय संघर्ष करते हुये डीसिल्वा के तीसरे टेस्ट शतक के दम पर मैच को ड्रा करा दिया। श्रीलंका ने मैच के ड्रा समाप्त होने तक 103 ओवर में पांच विकेट पर 299 रन बनाये।

भारत के सबसे भरोसमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने टीम इंडिया के लगातार नौ सीरीज जीतने के बाद विश्वास व्यक्त किया है कि भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भी जीत हासिल करेगी। पुजारा ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘हम दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए पूरी तरह तैयार हैं। श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज समाप्त हो जाने के बाद कुछ खिलाड़ियों के पास अब मौका रहेगा कि वे खुद को इस मुश्किल दौरे के लिए तैयार करें।’