देश विशेष खबरे

अयोध्या में धार्मिक कार्यक्रम सम्पन्न,वहां आये लोगां की वापसी

लखनऊ 25 नवम्बर (ब्यूरो) उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भक्तमाल की बगिया में रविवार को आयोजित धार्मिक कार्यक्रम शांति पूवर्क सम्पन्न हो गया और वहां आये लोग अब वापस जाने लगे हैं ।
पुलिस प्रवक्ता ने यहां बताया कि कार्यक्रमां के बाद वहां आये लोगां ने अपने गन्तव्य के लिये प्रस्थान शुरु कर दिया है। उनकी सुरक्षा के लिए प्रत्येक ट्रेन में राज्य की सीमा तक सिविल पुलिस के एक उपनिरीक्षक के नेतृत्च में छह पुलिसकर्मियां द्वारा स्कोर्ट कराया जा रहा है, जिससे कोई अप्रिय घटना घटित न हो सके।

उन्हांने बताया कि पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह के निर्देशानुसार अयोध्या जिले को 9 जोन एवं 17 सेक्टर में बांटकर बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मी लगाये गये थे। सुरक्षा बलां द्वारा सुनिश्चित किया गया कि न्यायालयां के निर्देशां का अनुपालन अक्षरशघ् किया जाये और कोई नई परिपाटी या नई व्यवस्था को उत्पन्न होने नहीं दिया गया।

प्रवक्ता ने बताया कि कार्यक्रम के मद्देनजर 13 पार्किंग स्थल चिन्हित कर लगभग 2,000 बसां की पार्किंग कुशलता से कराकर सुव्यवस्थित ढंग से कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया। लगभग 67,888 व्यक्तियां द्वारा राम जन्म भूमि परिसर में राम लला के दर्शन किये गये। दर्शन करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सघन चेकिंग की गयी। राज्य तथा केन्द्रीय बलां द्वारा रूफटाफ ड्यूटी, वाचर ड्यिटी एवं गुप्तचर पुलिस लगाकर सुनिश्चित किया गया कि कार्यक्रम सकुशल सम्पन्न हो, इसके लिए ड्रोन कैमरां को लगाकर लगाकर निगरानी रखी गयी।

प्रवक्ता ने बताया कि सोशल मीडिया के माध्यम से अधिकृत सूचनाओं को डीजीपी मुख्यालय ने जिला स्तर से संकलित किया और प्रिन्ट, विजुअल तथा सोशल मीडिया को समय-समय पर अवगत कराया गया जिससे अफवाहां का खण्डन हो सके।
उन्हांने बताया कि पुलिस महानिदेशक के निर्देशानुसार डीजीपी मुख्यालय के नियंत्रण कक्ष में 24 नवम्बर से अतिरिक्त अधिकारी लगाये गये थे। यह ड्यिटी 26 नवम्बर तक चलती रहेगी। इसी प्रकार लक्ष्मण किला मैदान में पुलिस बल लगाकर कार्यक्रम सकुशल सम्पन्न कराया गया। इसके अलावा शनिवार को सरयू आरती भी सकुशल सम्पन्न करायी गयी।

गौरतलब है कि अयोध्या में राममंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के आह्वान पर यहां धर्मसभा आयोजित की गई । धर्मसभा में बड़ी संख्या में साधु-संतां के अलावा रामभक्त भी शामिल हुए। सुरक्षा-व्यवस्था के पुख्ता इतंजाम किए गये थे ।