मध्य प्रदेश

सडक़ दुर्घटना में पांच माह की मासूम सहित 5 की मौत

उज्जैन, (हि.स.)। उन्हेल में आयोजित विवाह समारोह में शामिल होकर मारुति वैन से अपने घर घट्टिया लौट रहे परिवार की सडक़ दुर्घटना में मौत हो गई। हादसा इतना गंभीर था कि 5 माह की मासूम सहित पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं तीन गंभीर घायलों का जिला अस्पताल में उपचार जारी है।
पुलिस के अनुसार घटना बुधवार-गुरूवार की दरमियानी रात करीब ढेड़ बजे की है। आयशर क्रं.एम एच 08 डब्ल्यू 9226 ने मारूति वेन को जोरदार टक्कर मारी। भड़ाम की आवाज सुनकर ग्रामीण मदद के लिए दौड़े। शव मारूति में फंसे थे। मारूति के परखचे उड़ चुके थे। पतरे काटकर शव निकाले गए। पुलिस ने बातया कि मारूति वेन में सुरेश पिता रतनलाल वर्मा,पत्नी शोभाबाई, पांच माह की मासूम बेटी गुडिय़ा, मां जानीबाई, भाभी मधुबाई पति दिनेश, ससुर बालाराम पिता सिद्घूलाल, सास गुड्डीबाई और भतीजे धीरज पिता कमलेश के साथ मारुति वैन में सवार होकर उन्हेल में आयोजित विवाह समारोह से लौट रहे थे।
आगर रोड के ग्राम तुलाहेड़ा के समीप जीरो पाइंट के पास पाटीदार डीजल पम्प के सामने घटना हुई। पुलिस भी जानकारी मिलते ही 108 एम्बुलेंस के साथ मौके पर पहुंच गई। घायलों को बाहर निकालने के लिए जेसीबी मशीन मंगवा गई, जिसके माध्यम से वैन को पहले बाहर खींचा गया, उसके बाद उसमें सवार लोगों को बाहर निकाला गया। इस दौरान शोभाबाई, जानीबाई, मधुबाई, बालाराम और पांच माह की मासूम मौत हो चुकी थीं। सुरेश, उसका भतीजा धीरज और सास गुड्डीबाई गंभीर रूप से घायल हैं, जिनका उपचार जिला अस्पताल में जारी है। गुरूवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शवों को परिजनों को सौपा गया।

अभिषेक कौशिक काफी छोटी उम्र से क्रिकेट खेलते आ रहे हैं और उन्होंने हमेशा बेहतर प्रदर्शन किया है। इसी की बदौलत अभिषेक कौशिक का चयन रणजी के लिए हुआ है। जिला क्रिकेट एसोसिएशन के कोच ललित वर्मा ने कहा कि यह कुरुक्षेत्र की क्रिकेट के लिए बड़ी उपलब्धि है। साथ ही अभिषेक कौशिक के कोच उदय भान ने भी अभिषेक कौशिक के रणजी में चयनित होने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उदय भान ने कहा कि अभिषेक कौशिक एक बेहतरीन क्रिकेट खिलाड़ी है और उम्मीद है रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन करने के बाद एक दिन अभिषेक कौशिक भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बनेगा। अभिषेक कौशिक के पिता पंडित जयपाल शास्त्री ने इस उपलब्धि का श्रेय अभिषेक की मेहनत और उसके कोच व जिला क्रिकेट एसोसिएशन को दिया है ।

उन्होंने बताया कि अभिषेक बचपन से ही क्रिकेट खेल रहा है और उसने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए काफी मेहनत की है। अभिषेक ने इंग्लैंड में भी काउंटी क्रिकेट खेली है। उनका एक सपना था कि अभिषेक कौशिक रणजी ट्रॉफी खेले। अब यह सपना साकार हो गया है। उम्मीद है कि एक दिन वह भारतीय क्रिकेट के लिए भी अपना योगदान देगा।